सारे धर्मों के त्याग के बाद क्या?

प्रस्तुत लेख आचार्य प्रशांत के संवाद सत्र का अंश है।

कृष्ण कौन है? क्या कृष्ण, जो अर्जुन के दायरे के भीतर जो अनेका-नेक धर्म हैं, उन्हीं धर्मों में से कोई और नया धर्म है? अर्जुन का दायरा क्या है? अर्जुन का दायरा संसार है, भाषा है, अर्जुन का दायरा भाषा है। अर्जुन का दायरा पूरी मानवता है, हम सब हैं। कृष्ण कह रहे हैं - उसको छोड़।

--

--

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org