शिवलिंग का रहस्य क्या? शिवलिंग की पूजा क्यों?

प्रश्नकर्ता: शिवलिंग क्या है? इसकी पूजा क्यों की जाती है?

आचार्य प्रशांत: लिंग का जो आध्यात्मिक अर्थ है वो प्रतीक और प्रमाण दोनों होता है। लिंग माने प्रतीक और लिंग माने प्रमाण और इन्हीं दोनों अर्थों के कारण शिवलिंग पूजनीय होता है। एक अर्थ में शिवलिंग द्योतक होता है निराकार सत्य का, कैसे? वेदों में, अथर्ववेद में स्तंभ का उल्लेख आता है—स्तंभ माने खम्बा—और किस अर्थ में स्तंभ का उल्लेख आता है? संभालने वाले के अर्थ में। कि जैसे एक खम्बा होता है उस पर आप काफी कुछ टिका सकते हैं न? एक खम्बा होता है वो सहारा बनता है, अवलंभ बनता है। उसपर टिककर खड़े हो सकते हो…

--

--

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org