विदेशी पत्रिका द्वारा भारतीय देवी-देवताओं पर मज़ाक

प्रश्नकर्ता: फ्रांस की पत्रिका है चार्ली हेबडो। व्यंग्य संबंधित ही इनकी ज़्यादातर समाग्री रहती है। अतीत में भी ये पत्रिका काफी चर्चा और विवाद में रही है। अभी हाल में ही, कल-परसों ही इन्होंने एक कार्टून छापा है जिसमें भारतीयों को ऑक्सिजन के अभाव में तड़पते और दम तोड़ते हुए दिखाया जा रहा है। और फिर उस कार्टून में इन्होंने तंज कसते हुए ये सवाल किया है कि कहाँ गए भारतियों के लाखों-करोड़ों देवी-देवता? इतने सारे आपके देवी-देवता हैं तो वो आपके लिए ऑक्सिजन क्यों नहीं पैदा कर सकते ऐसा चार्ली हेबडो ने व्यंग्य करा है।

--

--

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org