राष्ट्रवाद

जितने भी राष्ट्रों को हम जानते हैं पश्चिम के, वह ज़रूर बहुत पुराने नहीं हुए, उन राष्ट्रों के आधार में यही चीज़ें बैठी हुई हैं — रंग, नस्ल, साझा इतिहास, साझा आवास या भूगोल। भारतीय राष्ट्र के आधार में क्या है? एक भारतीय दूसरे भारतीय से किस आधार पर शताब्दियों से संबंधित अनुभव करता रहा है? या इसको ऐसे पूछ सकते हैं कि दुनिया के किसी भी अन्य दो लोगों की अपेक्षा दो भारतीयों में साझा क्या है? ऐसा क्या है दो भारतीयों में जो उन्हें विश्व के अन्य लोगों से और अन्य राष्ट्रों से…

--

--

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org