ये बात कोई सुनना नहीं चाहता!

ये बात कोई सुनना नहीं चाहता!

प्रश्नकर्ता: अगर दूध का आप बहिष्कार करते हैं तो गाय की बिलकुल ही बेकद्री हो जाएगी।

आचार्य प्रशांत: ये बात पता नहीं क्यों हमारे दूध पीने वाले भाई-बहन सोचते ही नहीं बिलकुल कि जिस दिन गाय ने दूध देना बंद कर दिया उस दिन वो गाय पालने वाले के लिए, किसान के लिए वो क्या हो गयी? वो एक ज़िम्मेदारी हो गयी। कि अब तो वो दूध देगी नहीं लेकिन अभी वो जीयेगी। अभी वो कम-से-कम चार साल, छः साल और जीयेगी। तो अब उसका क्या होगा?

--

--

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org