मुक्त जीने का क्या अर्थ है?

मुक्त जीने का मतलब होता है कि मुक्ति से अधिक महत्वपूर्ण मेरे लिए कुछ भी नहीं। मुक्त जीने को ऐसे पढ़ो - मुक्ति में जीना। ऐसा नहीं है कि मान रहे हो कि मुक्त हो। बस अमुक्ति का, बंधन का तुमने विचार नहीं कर रखा।

अमुक्ति में तुम्हारा विश्वाश न बैठ जाए, यही मुक्ति है।

असल में अगर तुम्हें बार- बार मुक्ति का भी ख़याल आ रहा है तो वो बंधन ही है। जो वास्तव में मुक्त है, उसे न बंधन का ख़याल आता है, न…

--

--

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org