महत्वपूर्ण है महत्वपूर्ण को याद रखना

प्रश्नकर्ता: सर, हम अपने लक्ष्यों के पीछे हमेशा भागते रहते हैं और बहुत बेचैनी भी महसूस होती है, पर कुछ दिनों बाद शिथिल पड़ जाते हैं। दृढ़ इच्छा शक्ति को बरकरार कैसे रखें?

आचार्य प्रशांत: अब मैं तुम्हें जवाब तो दे दूँगा, पर जो जवाब होगा वो तुम्हारे लिए स्मृति मात्र होगा। स्मृति को बरकरार कैसे रखोगे? कैसे बरकरार रखोगे? मैं तो कुछ बोल दूँगा, पर जो बोलूँगा, उसको बरकरार कैसे रखोगे?

प्र: दोहरा करके।

आचार्य: दोहराने के लिए तो याद होना चाहिए न कि करना है। कुछ भी करने के लिए उसकी महत्ता याद तो रहनी चाहिए। तो सबसे बड़ी बात क्या…

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org