मरते समय श्रीकृष्ण का स्मरण करने से मोक्ष मिल जाएगा?

प्रश्नकर्ता: प्रणाम आचार्य जी। मेरा प्रश्न गीता से सम्बंधित है। भगवान कृष्ण ने गीता में बोला हुआ है कि मरते वक़्त अगर मेरा स्मरण किया जाए तो वो मुझे ही प्राप्त होता है। और उसी गीता में उन्होंने बोला हुआ है कि मैं कण-कण में हर प्राणियों में वास करता हूँ। तो हमें किस रूप में उनका स्मरण करना चाहिए हर वक़्त ताकि मरते वक़्त भी हमें उसी का स्मरण रहे? उन्होंने ये भी बोला हुआ है कि मैं भी परम् अक्षर ओमकार का भी रूप हूँ। चंद्रमा में उनकी चाँदनी हूँ, सूर्य में ताप हूँ।

आचार्य प्रशांत: आप जिस श्लोक का उल्लेख कर रहे हैं, उससे ठीक दो श्लोक बाद श्री कृष्ण…

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org