भविष्य की चिंता

ज़्यादातर लोग जिन्हें भविष्य की बड़ी चिंता होती है, वह वही लोग हैं जिनका वर्तमान उखड़ा हुआ होता है।

अभी आप खुल नहीं पा रहे हैं, अभी आप जी नहीं पा रहे हैं, अभी आप अपने भ्रमों को दूर नहीं कर पा रहे हैं, आप अपने आप को बस बहाना दिए जा रहे हैं। और बहाना क्या है? “कल कर लूँगा।” जब आपने वह सब कुछ जो शुभ है, कल पर स्थगित कर दिया है तो निश्चित सी बात है आपके लिए ‘कल’ महत्वपूर्ण हो जाएगा, आज की महत्ता कम हो जाएगी। और आप लगातार कल के सपने देखने…

--

--

--

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org

Love podcasts or audiobooks? Learn on the go with our new app.

Get the Medium app

A button that says 'Download on the App Store', and if clicked it will lead you to the iOS App store
A button that says 'Get it on, Google Play', and if clicked it will lead you to the Google Play store
आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org

More from Medium

Album Review: Drake, Honestly, Nevermind

3 steps and 4 tips for a busy life style and glowing skin

5 Pillars: Nutrition Now

The Pressure Project Fruit Stand @ The Summer Smash 2022

Motivation