प्रेमिका छोड़ कर चली गई?

प्रश्न: आचार्य जी, मेरी प्रेमिका मुझे कल ही छोड़कर चली गई। दर्द में हूँ। क्या करूँ?

आचार्य प्रशांत: दूसरी खोज लो।

जब प्रश्न के केंद्र पर प्रेमिका बैठी है, तो तुम्हारी उत्सुकता प्रेमिका से आगे की है ही नहीं न। ये खेल चलता रहेगा — कभी एक से जुड़ोगे, कभी दूसरे से। कभी एक छोड़ेगा, कभी दूसरे को पकड़ोगे। ये खेल चलता रहेगा। यही करते रहना है?

--

--

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org