पीछे छूट जाने का डर लगता है?

प्रश्नकर्ता: सर, ये फोमो क्या है, फियर ऑफ मिसिंग आउट (पीछे छूट जाने का डर)? मुझे भी बहुत डर लगता है कि दूसरे लोग जिन चीज़ों का अनुभव ले रहे हैं, आनंद ले रहे हैं कहीं मैं उन चीज़ों से वंचित न रह जाऊँ। मैं कुछ समय से आपको सुन रहा हूँ तो बहुत सारी चीज़ें अब मुझे व्यर्थ, निरर्थक भी दिखाई देने लग गई हैं, फिर भी जब मैं दूसरों को उन चीज़ों का मज़ा लेते देखता हूँ तो मेरे भीतर फोमो जग जाता है, कि दूसरे तो मज़े ले गए, मैं ही कहीं अध्यात्म के चक्कर में…

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org