दूसरे देशों के अंधविरोध-बहिष्कार का नाम देशभक्ति नहीं

हम अभी कह रहे थे कि भारत की मूल पहचान अध्यात्म है। अध्यात्म सीमाएं नहीं सिखाता। अध्यात्म नहीं कहता कि किसी वर्ग, जगह, धारणा, या व्यवसाय से बंधकर पड़े रहो। अध्यात्म का संबंध सत्य और शांति से है। आध्यात्मिक व्यक्ति की निष्ठा सच्चाई और शांति की तरफ होती है। उसकी निष्ठा और किसी चीज से नहीं होती; इससे-उससे किसी चीज से नहीं होती। तो यह जो तुमने कहा देशभक्ति के बारे में, यह देशभक्ति की बड़ी ही सीमित और…

--

--

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org