गीता-ज्ञान कॉर्पोरेट मुनाफ़ा बढ़ाने के लिए है?

गीता-ज्ञान कॉर्पोरेट मुनाफ़ा बढ़ाने के लिए है?

प्रश्नकर्ता: आज बहुत सारी ऐसी संस्थाएँ और मेनेजमेंट गुरु पनप आए हैं जो श्रीमद् भागवतगीता को मैनेजमेंट मानें प्रबंधन सीखने की पुस्तक बताते हैं। मैं एमबीए कर रहा हूँ दिल्ली से तो मैंने भी मेनेजमेंट सीखने के उद्देश्य से गीता दो बार पढ़ी पर कुछ फायदा लगा नहीं, कुछ समझाएँ कि हो क्या रहा है।

आचार्य प्रशांत: दो बहुत अलग-अलग उद्देश्य होते हैं व्यक्ति के। व्यक्ति वो जो निराशा पाता है, असफलता…

--

--

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org