कैसे जानें कि क्या पढ़ना चाहिए?

जो भी ग्रंथ या गुरु तुम्हें कुछ ऐसा बताता हो जो तुम्हारी वर्तमान अवस्था को कायम रखता हो, जान लो कि वो धोखा है।

तुम्हें बचाए रखने का सबसे कारगर उपाय यह होता है कि तुम्हें झूठे बदलाव दे दिए जाएँ।

इससे तुम ऊपर-ऊपर छद्म रूप से तो बदल जाओगे, पर भीतर से वही रहोगे और छटपटाते ही रहोगे। जैसे तुम डरे हुए हो और कोई पुस्तक तुम्हें आत्मविश्वास सिखाती हो और आत्मविश्वास से तुम ऊपरी तौर पर निडर महसूस…

--

--

--

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org

Love podcasts or audiobooks? Learn on the go with our new app.

Get the Medium app

A button that says 'Download on the App Store', and if clicked it will lead you to the iOS App store
A button that says 'Get it on, Google Play', and if clicked it will lead you to the Google Play store
आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

आचार्य प्रशान्त - Acharya Prashant

रचनाकार, वक्ता, वेदांत मर्मज्ञ, IIT-IIM अलुमनस व पूर्व सिविल सेवा अधिकारी | acharyaprashant.org

More from Medium

What’s the speed limit for your guardian angels?

The Cranky Baby Test — 3 Questions You Should Ask Yourself if You Feel Anxious, Stressed or…

Life Can Be Better Series . . . Even After Losing It All

Into the Wilderness of our Souls